भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Coherence Theory

संसक्तता-सिद्धांत
एक ज्ञानमीमांसीय सिद्धांत जो सत्यता को मुख्यतः प्रतिज्ञप्तियों के एक विशाल संगतिपूर्ण तंत्र का गुण मानता है और ऐसे तंत्र की किसी एक प्रतिज्ञप्ति की सत्यता को एक व्युत्पन्न गुण मानता है।

Co-Implicant

सहापादक
यदि प फ को आपादित करता है और फ प को आपादित करता है तो इनमें से एक दूसरे का “सहापादक” है।

Co-Implication

सहापादन
दो ऐसी प्रतिज्ञप्तियों का संबंध जो एक दूसरी को आपादित करती हैं।

Co-Inadequate

सह-अपर्याप्त
यदि क और ख दो ऐसे वर्ग हैं जो पूरे विषय-क्षेत्र का निराकरण नहीं करते, तो क और ख दोनों उस विषय-क्षेत्र की दृष्टि से ‘सह-अपर्याप्त’ होते हैं।

Coincidence

सहघटन
दो ऐसी घटनाओं का एक साथ घटना जिनका एक-दूसरे से कोई निश्चित कारण-कार्य-संबंध ज्ञात न हो।

Coincidentia Oppositorum

विरूद्ध-संपात
विरोधी बातों का एकत्र अस्तित्व : निकोलस के दर्शन में ईश्वर की विशेषता बताने के लिए प्रयुक्त पद।

Collective Good

सामूहिक शुभ, सामूहिक हित
वह शुभ जो एक व्यक्ति का न होकर, पूरे समूह का हो।

Collective Judgement

संकलनात्मक निर्णय
वह निर्णय जो दृष्टांतों की अधिकतम गणना पर आधारित होता है, जैसे : “गणतंत्र दिवस पर सभी सरकारी भवनों पर झण्डे फहराये जाते हैं।” तथा “भारत के पहाड़ी लोग ऊँचे कद के नहीं होते हैं।”

Collectively Exhaustive Classes

सर्वसमावेशी वर्ग
वे वर्ग जिनके अंतर्गत सम्मिलित रूप से संबंधित क्षेत्र की समस्त वस्तुएँ आ जाती हैं और कुछ भी शेष नहीं रहता।

Collective Property

समष्टि-गुणधर्म
वह गुणधर्म जो एक समूह के अलग-अलग व्यक्तियों का न होकर पूरे समूह का होता है। उदाहरणार्थ : समूह के द्वारा दिया गया निर्णय।

Collective Term

समूह-पद, समष्टि-पद
वह पद जो समान गुण-धर्म वाली वस्तुओं के लिए प्रयोग में लाया जाता है। तर्कशास्त्र के अनुसार समूह पद दो प्रकार का होता है – व्यक्तिवाचक समूह पद और जातिवाचक समूह पद, जैसे- पुस्तकालय, भारतीय लोग।

Collective Use

सामूहिक उपयोग, समष्टि उपयोग
तर्कशास्त्र के किसी प्रतिज्ञप्ति का ऐसा उपयोग जिसमें उद्देश्य पद विधेय पद के द्वारा प्रत्येक वस्तु पर अलग-अलग न लागू होकर उसके पूरे समूह पर लागू होता है। उदाहरणार्थ : “त्रिभुज के तीनों कोणों का योग दो समकोण के बराबर होता है।” इस प्रतिज्ञप्ति में विधेय “दो समकोण के बराबर” उद्देश्य “त्रिभुज के तीनों कोण” पर सामूहिक रूप से लागू होता है।

Collectivism

समष्टिवाद, सामूहिकतावाद, समूहवाद
यह व्यष्टि के विपरीत समूह (समाज या राज्य) को अधिक महत्व देनेवाला सिद्धांत है।

Colligation Of Facts

तथ्यानुबंधन
अलग-अलग देखे हुये तथ्यों का एक सूत्र के अंतर्गत एकीकरण। यह एक आगमन जैसी प्रक्रिया लगती है, पर आगमन है नहीं।
उदाहरण : एक वैज्ञानिक के द्वारा विभिन्न समयों में प्रेक्षित एक ग्रह की स्थितियों का दीर्घवृत्त के संप्रत्यय के अंतर्गत एकीकरण।

Collocation

संस्थिति
बेन के द्वारा प्रयुक्त शब्द। इसका प्रयोग उन्होने कारण में सहायक तत्कालीन निष्क्रिय स्थितियों से सहायक सक्रिय स्थितियों का विभेद करने के लिए किया है। उदाहरणार्थ “विस्फोट को पैदा करने के लिए चिंगारी की तुलना में बारूद का ढेर।”

Commandment

धर्मादेश
विशेष रूप से, ईसा के द्वारा दिए गए दस धार्मिक आदेशों में से एक।

Commensurability Of Values

मूल्यों की संमेयता, मूल्यों की तुलनीयता
मूल्यों की यह विशेषता कि उनकी एक दूसरे से तुलना की जा सकती है और इस आधार पर उनमें उच्च और निम्न का भेद किया जा सकता है।

Commensurate Terms

सम्मेय पद, समानुपातिक पद
तर्कशास्त्र में, दो ऐसे पद जिनमें से प्रत्येक उन सभी वस्तुओं पर लागू होता है जिन पर दूसरा लागू होता है, “जैसे समबाहु त्रिभुज” और “समानकोणिक त्रिभुज”।

Commentary Proposition

टीका-प्रतिज्ञप्ति
जॉनसन के अनुसार यह वह प्रतिज्ञप्ति है जो किसी विशेष अथवा सामान्य व्यक्ति या वस्तु के विषय में एक सामान्य टिप्पणी करती है।

Common Consent Argument

सामान्य प्रतिपत्तिक युक्ति
ईश्वर के अस्तित्व को सिद्ध करने के लिए दी गई युक्ति। इसके अनुसार जन-साधारण ईश्वर की सत्ता में विश्वास करते हैं अतः ईश्वर की सत्ता है।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App