भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Complete Predication

पूर्ण विधेयन
तर्कशास्त्र में ऐसी प्रतिज्ञप्ति जिसमें विधेय पद उद्देश्य पद को पूर्णतः अभिव्यक्त कर देता है। उदाहरण : “मनुष्य एक विवेकशील प्राणी है।”

Complete Set

पूर्ण समुच्चय
वर्णन की गयी सभी वस्तुओं का पूर्ण समुच्चय, यह गणित और तर्कशास्त्र में प्रयुक्त होता है। उदाहरण : सभी विषम संख्याओं का समुच्चय
x = [x E सभी विषम संख्याओं ] या x = [ x E 1, 3, 5, 7……]

Completive Form

पूरक आकार
वह पूरक आकार जो कलाकार के मन में है, पर वह मूर्त रूप नहीं लिया है। यह पद सौंदर्य शास्त्र में प्रयुक्त होता है।

Complex Dilemma

सम्मिश्र उभयतःपाश
वह उभयतःपाश जिसका प्रथम आधार वाक्य संयोजनात्मक हेतुफलात्मक प्रतिज्ञप्ति है, दूसरा आधार वाक्य वियोजक प्रतिज्ञप्ति है एवं निष्कर्ष भी एक वियोजक प्रतिज्ञप्ति है। इसके दो रूप हैं – विधायक और निषेधात्मक।
विधायक – यदि तुम आगे जाओगे तो शेर तुम्हें खा जायेगा ओर यदि तुम पीछे जाओगे तो खाई में गिर जाओगे।
या तुम आगे जाओगे या तुम पीछे जाओगे।
निष्कर्ष – या तो तुम्हें शेर खा जायेगा या तुम खाई में गिर जाओगे।
निषेधात्मक – यदि तुम आगे जाओगे तो शेर तुम्हें खा जायेगा और यदि तुम पीछे जाओगे तो खाई में गिर जाओगे।
न तो शेर तुम्हें खायेगा, न तुम खाई में गिरोगे।
निष्कर्ष – न तो तुम आगे जाओगे, न तुम पीछे जाओगे।

Complex Double Epicheirema

सम्मिश्र उभयपक्षीय संक्षिप्त प्रतिगामी तर्कमाला
न्यायवाक्यों की वह श्रृंखला जो उत्तर न्यायवाक्य से पूर्व न्यायवाक्य की ओर चलती है, जिसमें पूर्व न्यायवाक्यों का एक आधार-वाक्य लुप्त होता है, जिसमें उत्तर न्यायवाक्य में दोनों आधार-वाक्यों को संक्षिप्त न्याय-वाक्यों के द्वारा सिद्ध किया जाता है, तथा फिर इन संक्षिप्त न्यायवाक्यों के आधारवाक्यों को भी अन्य संक्षिप्त न्यायवाक्यों के द्वारा सिद्ध किया जाता है,
उदाहरण- सभी ऋषि आदरणीय हैं, क्योंकि सभी योगी आदरणीय हैं, और सभी ऋषि योगी हैं। सभी योगी आदरणीय हैं, क्योंकि सभी दार्शनिक आदरणीय हैं, और सभी दार्शनिक आदरणीय हैं, क्योंकि सभी विद्वान आदरणीय हैं, और पुनः सभी ऋषि योगी हैं, क्योंकि सभी तत्वद्रष्टा योगी हैं, और सभी तत्वद्रष्टा योगी हैं, क्योंकि सभी परमार्थी योगी हैं।

Complex Epicheirema

सम्मिश्र संक्षिप्त प्रतिगामी तर्कमाला
न्यायवाक्यों की वह श्रृंखला जो न्यायवाक्य से पूर्व न्यायवाक्य की ओर अग्रसर होती है, जिसमें पूर्व न्यायवाक्य में केवल एक आधार-वाक्य व्यक्त होता है, तथा जिसमें उत्तर न्यायवाक्य के आधारवाक्यों को सिद्ध करने वाले संक्षिप्त न्यायवाक्यों के व्यक्त आधार-वाक्यों को पुनः संक्षिप्त न्यायवाक्यों के द्वारा सिद्ध किया जाता है।

Complex Single Epicheirema

सम्मिश्र एकपक्षीय संक्षिप्त प्रतिगामी तर्कमाला
संक्षिप्त न्यायवाक्यों की वह श्रृंखला जो उत्तर न्यायवाक्य से पूर्व न्यायवाक्य की ओर अग्रसर होती है, जिसमें उत्तर न्यायवाक्य के केवल एक आधार-वाक्य को एक संक्षिप्त न्यायवाक्य के द्वारा सिद्ध किया जाता है और इस संक्षिप्त न्यायवाक्य के व्यक्त आधार-वाक्य को भी पुनः उसी प्रकार सिद्ध का जाता है।
उदाहरण : सभी ऋषि आदरणीय हैं, क्योंकि सभी योगी आदरणीय हैं और सभी ऋषि योगी हैं।
सभी योगी आदरणीय हैं, क्योंकि सभी दार्शनिक आदरणीय हैं।
सभी दार्शनिक आदरणीय हैं, क्योंकि सभी विद्वान आदरणीय हैं।

Composite Idea

सामासिक प्रत्यय, सम्मिश्र प्रत्यय
दो या दो से अधिक प्रत्ययों के मेल से बना प्रत्यय संमिश्र प्रत्यय है। जैसे, नृसिंह, जिसमें ‘नृ’ और ‘सिंह’ दो प्रत्ययों का संमिश्र है।

Composite Sense

सामासिक अर्थ
मध्ययुगीन तर्कशास्त्र में, निश्चयमात्रिक वाक्य में सम्मिलित निश्चयमात्रसूचक शब्द (शायद, संभवतः, अनिवार्यतः, इत्यादि) का यह अर्थ कि वह पूरे प्रकृत वाक्य (अथवा अस्ति-वाक्य) का विशेषण है।
देखिये “divided sense”।

Composite Syllogism

सामासिक न्यायवाक्य
वह न्याय रचना जिसमें दो से अधिक आधार-वाक्य होते हैं।
उदाहरण : सभी जन्म लेने वाले मरणशील हैं;
सभी मनुष्य जन्म लेते हैं;
राम एक मनुष्य है;
∴ राम मरणशील है।

Composite Term

सामासिक पद
ऐसा पद जिसमें एक से अधिक शब्द सम्मिलित हों, जैसे, “कलकत्ता-विश्वविद्यालय”।

Composite Of Causes

कारण-संहति
कारणों का ऐसा योग जो एक मिश्रित कार्य उत्पन्न करे। मिल ने इस पद का प्रयोग कारणों के उस विशेष योग के लिये किया है जो कार्यों के एक सजातीय मिश्रण को उत्पन्न करता है न कि एक भिन्नरूपी मिश्रण को।

Compossible

सहसंभवशील
दो वस्तुओं के मध्य का संबंध जिसमें दोनों के साथ-साथ रहने की संभावना हो। जैसे : बादल-वर्षा।

Compound Class Expression

मिश्रित वर्ग अभिव्यक्ति
प्रतीकात्मक तर्कशास्त्र के अंतर्गत ऐसी अभिव्यक्ति जो दो या दो से अधिक वर्गों का वर्णन करे। जैसे : सभी गणितीय अंकों का समुच्चय जिसमें पूर्ण, अपूर्ण, सम, विषम इत्यादि अंकों का समुच्चय आता है।

Compound Proposition

मिश्र प्रतिज्ञप्ति
दो या अधिक सरल प्रतिज्ञप्तियों से बनी हुई प्रतिज्ञप्ति, जैसे, ‘या तो राम परिश्रमी है या राम आलसी है।’

Compound Syllogism

संयुक्त न्यायवाक्य
वह न्याय रचना जिसमें प्रथम आधार वाक्य सोपाधिक अथवा वैकल्पिक प्रतिज्ञप्ति हो तथा दूसरा आधार वाक्य सरल प्रतिज्ञप्ति हो और निष्कर्ष भी सरल हो, जैसे :
यदि जनता परिश्रमी है तो देश समृद्ध होता है।
भारतीय जनता परिश्रमी है।
अतः हमारा देश समृद्ध है।

Comprehension

व्यापकार्थ
तर्कशास्त्र में उन विशेषताओं का समुच्चय जो किसी पद के द्वारा व्यक्त व्यष्टियों में व्यापक रूप से विद्यमान रहती हैं और उसे अर्थ प्रदान करती हैं।

Compresence

सहवृत्ति, सहोपस्थिति
दो या अधिक वस्तुओं का एक साथ अस्तित्व। विशेषतः चेतना के कई तत्वों की एक साथ उपस्थिति के अर्थ में सैमुअल अलेक्जेंडर द्वारा प्रयुक्त शब्द।

Concatenation

कारणानुबंध
जे. एस. मिल के अनुसार, वैज्ञानिक व्याख्या का एक प्रकार, जिसमें कारण और उसके दूरवर्ती कार्यों के बीच की कड़ियों की खोज करके उनके संबंध को बोधगम्य बनाया जाता है।
उदाहरण : बिजली की चमक और उसके अनन्तर पैदा होने वाली कडकड़ाहट की व्याख्या इनके बीच की कड़ी ताप को बताकर करना : विद्युत से ताप उत्पन्न होता है जो बादलों के बीच की हवा को तुरन्त फैला देता है और फलतः कड़कड़ाहट पैदा होती है।

Concept

संकल्पना, संप्रत्यय
सामान्यतः किसी वर्ग के व्यष्टियों में पाए जाने वाले समान और आवश्यक गुणधर्मों का समुच्चय; सामान्य प्रत्यय।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App