भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Immanent Theism

अंतर्यामी ईश्वरवाद
वह सिद्धांत कि ईश्वर जगत् में व्याप्त भी है और उससे अतीत भी है। यह मत सर्वेश्वरवाद की इस मान्यता को अस्वीकार करता है कि ईश्वर और जगत् अभिन्न हैं।

Immanent Transcendence

अंतर्यामी अतीतता
व्याप्त होने के साथ-साथ अतीत होने की विशेषता।

Immaterialism

अभौतिकवाद
भौतिक जगत का निषेध करने वाला तत्त्वमीमांसीय सिद्धांत।

Immateriality

अभौतिकता
अभौतिक होने की विशेषता जो कि, स्कॉलेस्टिक दार्शनिकों के अनुसार, आत्मा और फरिश्तों में तथा आत्मा की बुद्धि और संकल्प नामक शक्तियों में होती है।

Immediacy

अव्यवहित्त्व
चेतना के समक्ष ज्ञेय वस्तु की उपस्थिति, अथवा ज्ञान की वह अवस्था जिसमें अनुमान, अर्थबोध और कल्पना का अंश या तो होता ही नहीं अथवा अल्पतम होता है।

Immediate Inference

अव्यवहित अनुमान
निगमनात्मक अनुमान का एक प्रकार, जिसमें केवल एक आधारवाक्य से सीधे निष्कर्ष निकाला जाता है।
उदाहरण : सभी मनुष्य मर्त्य हैं;
∴ कुछ मर्त्य (प्राणी) मनुष्य हैं।

Immediate Intention

तात्कालिक अभिप्राय
मैकेंजी के अनुसार, कर्त्ता का वह अभिप्राय जिसकी तात्कालिक पूर्ति हेतु वह कर्म में प्रवृत होता है।

Immediate Knowledge

अव्यवहित ज्ञान
ज्ञानेंद्रियों से बाह्य वस्तुओं का और आंतरिक प्रत्यक्ष से स्वयं अपनी मानसिक अवस्थाओं का साक्षात् अर्थात् किसी मध्यस्थ के बिना, होने वाला ज्ञान। कतिपय दर्शनों में बाह्य वस्तुओं के इन्द्रिय प्रत्यक्ष को अव्यवहित ज्ञान की कोटि में स्वीकार नहीं किया जाता है।

Immoralism

रूढ़ नीति-विद्रोह
वह नीतिशास्त्रीय दृष्टिकोण जो रूढ़िगत नैतिक मूल्यों का निषेध करता है। नीत्शे (Nietzsche) के चिन्तन में विशेष रूप से प्रयुक्त।

Immortality

अमरता, अमरत्व
देहान्त के पश्चात् आत्मा का बने रहने की अवधारणा।

Immutability

अविकारिता, अपरिवर्तनीयता
ईश्वर : आत्मा अथवा सत्ता के विकार-रहित होने की विशेषता।

Impeccability

निष्कलुषता
दोष अथवा पाप से रहित होने का सहज गुण।

Impenetrability

अभेद्यता
लॉक के अनुसार द्रव्य का वह प्राथमिक गुण जिसके कारण द्रव्य के दो अंश कदापि एक ही काल में एक ही स्थान नहीं घेर सकते।

Imperfect Figure

अपूर्ण आकृति
अरस्तू के अनुसार, वह आकृति (द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ) जिस पर मूल तार्किक सिद्धांत (dictum de omni) ‘यज्जातिविधेयम् तद्व्यक्तिविधेयम्’ सीधा लागू नहीं होता और फलतः जिसके विन्यासों की वैधता को प्रथम आकृति में रूपांतरित करके ही सिद्ध करना होता है।

Impersonalism

निर्वैयक्तिकवाद
1. वह यंत्रवादी संकल्पना कि विश्व के सभी जड़-चेतन पदार्थों के अंदर प्रकृति बिल्कुल नियमबद्ध तरीके से काम करती है और उसके पूरे तंत्र में वैयक्तिक मूल्यों के लिए कोई स्थान नहीं है।
2. धर्मदर्शन के विशेष संदर्भ में प्रयुक्त होने वाला वह सिद्धांत जिसके अनुसार किसी व्यक्तित्व सम्पन्न अथवा वैयक्तिक सत्ता को स्वीकार नहीं किया जाता।

Impersonalistic Idelism

निर्वेवक्तिक प्रत्ययवाद
प्रत्ययवाद का वह रूप जो परम तत्त्व को व्यक्ति रूप नहीं मानता।

Implicans

आपादक
आपादनात्मक प्रतिज्ञप्ति (यदि “प” तो “फ”) का प्रथम भाग (यदि “प”)।

Implicate

आपाद्य
आपादनात्मक प्रतिज्ञप्ति का दूसरा भाग (तो “फ”)।

Implication

आपादन
दो प्रतिज्ञप्तियों का संबंध जिसके होने पर, यदि प्रथम (आपादक) सत्य हो, तो द्वितीय (आपाद्य) असत्य नहीं हो सकता।

Implicative Proposition

आपादनात्मक प्रतिज्ञपप्ति
“यदि……… तो ……….” आकार वाली प्रतिज्ञप्ति जिसका पहला अंश दूसरे अंश को आपादित करता है।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App