भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Implicit Definition

निहित परिभाषा
प्रतीकात्मक तर्कशास्त्र में स्वयंसिद्ध वाक्यों के एक समुच्चय में आये हुए अपरिभाषित पदों को इस प्रकार से परिभाषित करना कि उन पदों के निर्देश अभिप्रेत वस्तुओं तक ही सीमित रहें और ऐसा स्वयंसिद्ध वाक्यों में ऐसी शर्तों को समाविष्ट करके किया जाता है जिन्हें वस्तुओं का कोई एक समुच्चय कर सकता है।

Implicit Faith

अंतर्निहित आस्था
ईसाई धर्मशास्त्र में ऐसे व्यक्ति की धार्मिक आस्था के लिए प्रयुक्त पद जो चर्च की शिक्षाओं को पूर्णतः सत्य मानता है परंतु स्पष्ट रूप में यह नहीं जानता कि वे हैं क्या।

Import

आशय
पदों के संदर्भ में, अर्थ या गुणार्थ का पर्याय। प्रतिज्ञप्तियों के संदर्भ में, उद्देश्य, विधेय और इनके संबंध का जो अर्थ होता है उसके लिए तथा पूरी प्रतिज्ञप्ति मुख्य रूप से वस्तुओं, नामों या प्रत्ययों में से जिसकी बोधक होती है या मानी जाती है उसके लिए प्रयुक्त शब्द।

Impredicative Definition

अविधेयक परिभाषा
हेनरी प्वाइन्केअर (Henri Poincare, 1854-1912) के अनुसार, किसी वस्तु की उस समष्टि के द्वारा दी गई परिभाषा जिसका वह स्वयं एक सदस्य हो। ऐसी परिभाषा दोषयुक्त मानी गई है।

Impressionism

संस्कारवाद, प्रभाववाद
ह्यूम का वह मत कि हमको अपनी ज्ञानेन्द्रियों द्वारा वस्तुओं के जो संस्कार (छाप) प्राप्त होते हैं वही ज्ञान के मूल स्रोत हैं।

Inclination

प्रवृत्ति
झुकाव, या अनुकूल वृत्ति जो कि किसी कार्य को स्वेच्छा से या बिना बाहरी दबाव के करने में प्रकट होती है।

Inclusion

समावेश
ऐसे दो समुच्चयों या कुलकों का संबंध जिनमें से एक के सभी सदस्य दूसरे के भी सदस्य होते हैं।

Incomplete Induction

अपूर्ण आगमन
अवैज्ञानिक आगमन का वह प्रकार जिसके मूल में प्रकृति-समरूपता के नियम को आधार मानकर किसी सामान्य निष्कर्ष को प्रतिपादित किया जाता है।
उदाहरणार्थ : अनेक कौओं को काला देखकर सभी कौओं के काले होने का निष्कर्ष प्रतिपादित करना।

Incomplete Symbol

अपूर्ण प्रतीक
बर्ट्रेन्ड रसल ने प्रतीकात्मक तर्कशास्त्र के अन्तर्गत अपूर्ण प्रतीक का प्रयोग किया है। अपूर्ण प्रतीक वह प्रतीक है जो अपना कोई स्वतंत्र अर्थ नहीं रखता है, परन्तु अन्य प्रतीकों का घटक बनकर उन्हें अर्थ प्रदान कर सकता है।

Inconsistent Triad

असंगत त्रिक
तीन प्रतिज्ञप्तियों का वह समुच्चय जिसमें कम से कम एक असत्य होता है क्योंकि उनमें से किन्हीं दो के आधार पर तीसरी प्रतिज्ञप्ति का निषेध निगमित किया जा सकता है। जब ऐसा निगमन (न्यायवाक्यी होता है, तो इस असंगति के आकार को प्रतिहेतु-न्यायवाक्य (antilogism) कहते हैं।

Incorrigible Proposition

अशोध्य प्रतिज्ञप्ति
वह प्रतिज्ञप्ति जिसकी सत्यता पर शक करना असंभव हो : एयर (Ayer) के अनुसार “आधारिक प्रतिज्ञप्तियाँ” (basic propositions) “शंकातीत” होती हैं, भले ही वक्ता कोई शब्द-प्रयोग संबंधी गलती कर जाय।

Indefectibility

अविकार्यता
पतन, विकार, क्षय इत्यादि की संभावना से मुक्त होने का गुण; विशेषतः ईसाई धर्मशास्त्र में, ईश्वरीय कृपा, पवित्रता इत्यादि के संदर्भ में प्रयुक्त शब्द।

Indefinite Definite

अनिश्चित निश्चयवाचक
तर्कशास्त्री जॉनसन के अनुसार, अंग्रेजी भाषा के निश्चयवाचक आर्टिकिल “दि” का वह प्रयोग जिसमें उसके बाद आने वाले संज्ञा-शब्द का अर्थ संदर्भ को जाने बिना अनिश्चित होता हैं, जैसे “दि पार्क” में यहाँ पार्क का अर्थ उसके लिए निश्चित नहीं हैं जिसे यह पता न हो कि प्रसंग दिल्ली के नेहरू पार्क का है।

Indefinite Indefinite

अनिश्चित अनिश्चयवाचक
तर्कशास्त्री जॉनसन के अनुसार, अंग्रेजी भाषा में आर्टिकिल “ए” का वह प्रयोग जिसमें उसके बाद आने वाले संज्ञा-शब्द का निर्देश पूर्णतः अनिश्चित होता है, जैसे “ए” का “ए मैन मस्ट हैव बीन इन दि रूम” में।

Indefinite Proposition

अनिश्चित प्रतिज्ञप्ति
वह प्रतिज्ञप्ति जो उसके सर्वव्यापी या अंशव्यापी होने के सूचक किसी शब्द के अभाव में सुनिश्चित परिमाण नहीं रखती।

Indemonstrables

अप्रमाणनीय
स्टोइक दार्शनिकों (Stoics) की शब्दावली में स्वयंसिद्ध प्रतिज्ञप्तियों का नाम।

Indesignate Proposition

अनिर्दिष्ट प्रतिज्ञप्ति
वह प्रतिज्ञप्ति जिसके परिमाण, अर्थात् व्याप्ति या अव्याप्ति का स्पष्ट उल्लेख नहीं होता, जैसे “पुस्तकें उपयोगी वस्तुएँ हैं”। (इस उदाहरण में यह स्पष्ट रूप से नहीं बताया गया है कि सभी पुस्तकें उपयोगी हैं या कुछ।)

Indeterminism

अनियतत्ववाद
वह सिद्धांत कि व्यक्ति के संकल्प एवं कार्य पूर्वनिर्धारित नहीं होते।

Indexical Sign

निर्देशक चिह्न
ऐसे चिह्न या संकेत जो अपनी निर्दिष्ट वस्तु का बोध उनसे दिक्कालिक रूप से संबंधित होने पर ही कराते हैं। जैसे ‘मैं’, ‘तुम’, ‘यहाँ’ इत्यादि। (सी. एस. पर्स)

Indicator Term

निर्देशक पद
आर्थर पैप के अनुसार, वह पद जिसका निर्देश प्रसंगानुसार बदलता रहता है, जैसे ‘यहाँ’, ‘वहाँ’, ‘मैं’।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App