भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Intuition

अंतःप्रज्ञा
1. ऐन्द्रिक-बौद्धिक स्तर से परे का ज्ञान।
2. अनुभवातीत ज्ञान को प्राप्त करने की एक विशिष्ट शक्ति।

Intuitionism

अंतःप्रज्ञावाद
वह मत जिसके अनुसार अन्तः प्रज्ञा ज्ञान प्राप्ति का एक विशिष्ट स्रोत है। इसके अनुसार व्यक्ति को शुभ-अशुभ का ज्ञान अंतः प्रज्ञा से परिणाम-निरपेक्ष रूप में होता है।

Intuitionist Logic

आंतःप्रज्ञ तर्कशास्त्र
पारंपरिक तर्कशास्त्र से भिन्न तथा अंतःप्रज्ञा को सत्यता का स्रोत मानने वाला तर्कशास्त्र : ब्राउवर (Brouwer) इत्यादि विचारकों के अनुसार तर्कशास्त्र कोई स्वतंत्र अस्तित्व नहीं रखता बल्कि गणित के अंतःप्रज्ञा से ज्ञात संप्रत्ययों पर ही आधारित है।

Intuitive Induction

आंतःप्रज्ञ आगमन
जॉनसन के अनुसार, वह सामान्य प्रतिज्ञप्ति जिसका बोध तत्काल एक ही विशेष दृष्टांत से हो जाता है।

Invariant Property

अव्यभिचारी गुणधर्म
वस्तु का वह गुण-धर्म जो प्रत्येक परिस्थिति एवं व्यवहार में अपरिवर्तित रहता है।

Inverse

विपरिवर्तित
विपरिवर्तन की क्रिया से प्राप्त वाक्य, अर्थात् विपरिवर्तन का निष्कर्ष। देखिए “inversion”।

Inverse Deductive Method

प्रतिलोम निगमन प्रणाली
किसी जटिल कार्य का कारण ढूँढने में प्रयुक्त एक प्रणाली, जिसके अनुसार पहले उस कार्य के अनेक उदाहरणों का प्रेक्षण करके यह पता किया जाता है कि कौन-सी परिस्थिति सभी में समान है और फिर उसे कारण मानते हुए उच्चतर नियमों से यह निगमित किया जाता है कि उससे उस कार्यविशेष की उत्पत्ति स्वाभाविक है।

Inverse Inference

प्रतिलोम अनुमान
कार्नेप (Carnap) के अनुसार, सांख्यिकी अनुमान का एक प्रकार, जिसमें एक नमूने के प्रेक्षण के आधार पर पूरे वर्ग के विषय में निष्कर्ष निकाला जाता है।

Inversion

विपरिवर्तन
एक प्रकार का अव्यवहित अनुमान, जिसमें निष्कर्ष का उद्देश्य आधारवाक्य के उद्देश्य का व्याघातक होता है।
जैसे : सभी उ वि हैं;
∴ कुछ अ-उ वि नहीं हैं।

Invertend

विपरिवर्त्य
विपरिवर्तन का आधारवाक्य अर्थात् वह वाक्य जिसका विपरिवर्तन करना होता है। देखिए “inversion”।

Involuntary Ideas

अनैच्छिक प्रत्यय
बर्कले के अनुसार, बाह्य वस्तुओं के प्रत्यय जो व्यक्ति की इच्छा के अधीन नहीं होते अपितु ईश्वर की इच्छा से उसके मन में आते हैं : बर्कले बाह्य वस्तुओं को ऐसे प्रत्ययों से अभिन्न मानते हैं।

Inwardization

आभ्यंतरीकरण
कृष्णचन्द्र भट्टाचार्य के दर्शन में, विषयी की क्रमशः सभी बाहरी तत्वों से स्वयं को विच्छिन्न कर अन्तर्मुखीकरण की प्रक्रिया।

I’ Proposition

आई’ प्रतिज्ञप्ति
पारंपरिक तर्कशास्त्र में, अंशव्यापी विधायक प्रतिज्ञप्ति : “कुछ उ वि हैं”।

Irrationalism

अतर्कबुद्धिवाद
मानवीय प्रज्ञा या तर्कबुद्धि को सर्वोच्च प्रमाण मानने का विरोध अथवा विरोध करने वाला मत, विशेषतः वह मत कि तत्व अथवा वास्तविकता का स्वरूप तर्कबुद्धिगम्य या तर्कबुद्धिपरक प्रणालियों के द्वारा प्राप्य नहीं है।

Irreflexive Relation

अपरावर्ती संबंध
ऐसा संबंध जो किसी वस्तु का स्वयं अपने साथ नहीं हो सकता, जैसे, “के उत्तर में”, “का पति” इत्यादि।

Irreligion

धर्मराहित्य
धार्मिक प्रवृत्ति का अभाव।

Irreversibility

अनुत्क्रमणीयता
विशेषतः काल की यह विशेषता कि उसके विभिन्न अंशों के क्रम को उल्टा नहीं जा सकता।

Isolationism

पृथक्तावाद
एक सौंदर्यशास्त्रीय मत जिसके अनुसार किसी भी कलाकृति को सम्यक् रूप से समझने के लिए एकाग्र होकर किसी भी बाहरी तत्व की ओर ध्यान दिए बिना उसे देखते, सुनते या पढ़ते जाना आदि आवश्यक होता है। अंतर के लिए देखिए “contextualism”।

Isosthenia

समबलता
वह अवस्था जिसमें किसी बात के पक्ष और विपक्ष में प्रमाण या तर्क बिल्कुल बराबर शक्ति का होता है।

Iterated Modality

पुनरावर्ती प्रकारता
निश्टयमात्र – सूचक शब्द की आवृत्ति से प्रकट निश्चयमात्र, जैसे “संभवतः संभव” या “अनिवार्यतः अनिवार्य”।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App