भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Philosophy (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

Occultism

गुह्यतंत्र, गुह्यविद्या
गुप्त, रहस्यमय या प्रेत में विश्वास तथा उन्हें वश में करने के लिए मंत्र-तंत्र और अन्य गुह्य साधनों का प्रयोग।

Occupant

अधिवासी
जॉनसन के अनुसार, वह द्रव्य जो स्थान घेरता है, अर्थात् सामान्य भाषा में भौतिक द्रव्य।

Occurrent

आपाती
जॉनसन के अनुसार, दिक्काल में अस्तित्व रखने वाली वस्तुओं के दो वर्गों में से एक : वह जिसका थोड़ी देर बाद अस्तित्व नहीं रहता, जैसे बिजली की कौंध।

Omnipotence

सर्वशक्तिमत्ता
ईश्वर के प्रमुख गुणों में से एक।

Omnipresence

सर्वव्यापकता
ईश्वर के प्रमुख गुणों में से एक।

Omniscience

सर्वज्ञता
ईश्वर के प्रमुख गुणों में से एक।

One-Many Problem

एक-अनेक की समस्या
एकमेव परम् सत्ता तथा अनेकात्मक जगत के मध्य संबंध का सत्ताशास्त्रीय प्रश्न। यह दर्शनशास्त्र का मूल प्रश्न है।

One-One Relation

एकैक-संबंध
वह संबंध जो एक वस्तु का केवल और केवल एक ही अन्य वस्तु से होता है।

Ontological Argument

सत्तामूलक युक्ति
ईश्वर के अस्तित्व को प्रमाणित करने वाली पारम्परिक युक्तियों में से एक युक्ति जिसका प्रयोग मध्य युग में संत एन्सेल्म एवं आधुनिक युग में देकार्त ने किया था। इस युक्ति के अनुसार ईश्वर का प्रत्यय है, इस प्रत्यय के अनुसार पूर्व ईश्वर का अस्तित्व भी है। कांट ने इस तर्क का खंडन किया है। उनके अनुसार प्रत्यय से प्रत्यय की सत्ता सिद्ध होती है, इसके अनुरूप वस्तु की नहीं।

Ontological Idealism

सत्तामीमांसीय चिद्वाद
मैक्टेगर्ट (Mc Taggart) का सिद्धांत जो सत्ता के विवेचन से आरंभ करके इस निष्कर्ष पर पहुँचता है कि वह आध्यात्मिक, चिद्रूप या प्रत्ययात्मक है।

Ontological Object

सद्वस्तु
ज्ञान की वह वस्तु जो कल्पना मात्र न हो बल्कि जिसका भौतिक जगत् में वास्तव में अस्तित्त्व हो।

Ontology

सत्तामीमांसा
तत्त्वमीमांसा की एक शाखा, जो सत्ता के सामान्य स्वरूप का विवेचन करती है। इसमें आदि-तत्त्वों का विवेचन और पदार्थों का वर्गीकरण इत्यादि भी शामिल है। सर्वप्रथम क्रिश्चियन वोल्फ (Christian Wolff) ने इस शब्द को यह अर्थ दिया, हालाँकि ontologia शब्द का प्रयोग स्कालेस्टिक लेखकों ने सत्रहवीं शताब्दी में शुरू कर दिया था। कुछ इसे तत्त्वमीमांसा के पर्याय के रूप में लेते हैं।

Onymatic System

नामिक निकाय
डी. मार्गन द्वारा प्रयुक्त पद। इसके अनुसार शुद्ध आकारिक तर्कशास्त्र में गुणवाचक व्याख्या को वस्तुवाचक व्याख्या के अंतर्गत लाते हुये समूह और व्यष्टि के आकारों के संबंध में इसका प्रयोग हुआ है।

Open Morality

सार्वजनीन नैतिकता
वह नैतिकता, जिसका स्रोत सामाजिक नियम, रीति-रिवाज, परंपराएँ एवं रूढ़ीगत संस्कार नहीं हैं, अपितु जिसका स्रोत अंतर्ज्ञान है, जो सम्पूर्ण मानवता के कल्याण का आदर्श स्थापित करता है। हेनरी बर्गसा ने अपनी पुस्तक “टू सोर्सेज ऑफ मोरेलिटी एण्ड रिलीज़न” में इसका प्रयोग किया है।

Operational Definition

संक्रियात्मक परिभाषा
वह परिभाषा जो यह बताती है कि अमुक पद अमुक स्थिति में केवल तभी लागू होगा जब उसमें कुछ निर्दिष्ट संक्रियाओं को करने से निर्दिष्ट परिणाम प्राप्त होंगे। ऐसी परिभाषाएँ निश्चित नाप-जोख और प्रयोग की सहायता से संप्रत्ययों को स्पष्ट करने के लिए भौतिक विज्ञानों में शुरू हुईं। प्रयोजन विज्ञान से अस्पष्टता और अमूर्त प्रत्ययों को दूर करना तथा उसे अधिक उपयोगी बनाना था। इस पद का प्रयोग सर्वप्रथम पी. डब्ल्यू. ब्रिजमैन ने 1927 में किया था।

Operationism

संक्रियावाद
समकालीन बुर्जुआ दर्शन में एक धारा जो तार्किक प्रत्यक्षवाद तथा व्यावहारिकतावाद का संश्लेषण है। इसके प्रणेता ब्रिजमैन थे। उनके अनुसार किसी भी संप्रत्यय या पद का अर्थ सबके सामने दोहराई जा सकने वाली संक्रियाओं के एक समूह के द्वारा निर्धारित होता है। यह सिद्धांत पहले भौतिकी में निरपेक्ष दिक्, निरपेक्ष काल इत्यादि अनुपयोगी संप्रत्ययों से छुटकारा पाने के लिए एक आन्दोलन के रूप में चला था।

Opinion

मत
वह धारणा जो तर्क पर आधारित न हो।

Opposition

विरोध
तर्कशास्त्र में एक ही उद्देश्य पद एवं विधेय पद के होते हुए जब वे परस्पर गुण, परिमाण एवं दोनों (गुण व परिमाण) में भिन्नता रखते हैं तब उसे विरोध कहा जाता है।
जैसे : 1. सभी विद्यार्थी बुद्धिमान हैं।
कोई भी विद्यार्थी बुद्धिमान नहीं है। } गुण में भेद।
2. सभी विद्यार्थी बुद्धिमान हैं।
कुछ विद्यार्थी बुद्धिमान हैं। } परिमाण में भेद।
3. सभी विद्यार्थी बुद्धिमान हैं।
कुछ विद्यार्थी बुद्धिमान नहीं है। } गुण एवं परिमाण में भेद।

O’ Proposition

ओ’ प्रतिज्ञप्ति
तर्कशास्त्र में, अंशव्यापी निषेधक प्रतिज्ञप्ति का प्रतीकात्मक नाम।
उदाहरण : “कुछ पक्षी उड़नेवाले नहीं होते”।
“कुछ उ वि नहीं हैं”।

Organic Whole

सावयवी साकल्प
ऐसा साकल्य या समुच्चय जिसके समस्त अंग किसी जीव-देह के अंगों की तरह परस्पर संबंधित हों।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App